नदी में मिला कैफे काॅफी डे के मालिक सिद्धार्थ का शव

देशभर में कैफे काॅफी डे के नाम से चेन चलाकर मशहूर हुए उद्योगपति और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद सिद्धार्थ का शव नदी मंे मिल गया है। सिद्धार्थ सोमवार से लापता थे।

आपको बतादें कि कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एसएम कृष्णा के 60 वर्षीय दामाद सिद्धार्थ सोमवार को कर्नाटक की नेत्रावती नदी के पुल पर कार से उतरकर गायब हो गए थे। दो दिन से उन्हें गोताखोर और अन्य टीमें तलाश रही थीं… बुधवार को उनका शव मेंगलूर की नेत्रावदी नदी से ही बरामद कर लिया गया। पुलिस का कहना है कि मामला आत्महत्या का है और जांच पूरी होने तक कुछ भी कहना अभी मुमकिन नहीं है।

कैफे काफी डे के फाउंडर सिद्धार्थ ने सुसाईड करने से पहले एक चिट्ठी भी लिखी थी जिसमें आयकर विभाग के एक पूर्व डीजी द्वारा परेशान करने की बात उन्होंने अपने खत में लिखी थी। इसी खत में कर्जदाताओं और प्राईवेट इक्विटी पार्टनर के दबाव का भी जिक्र था… सिद्धार्थ ने भावुक होते हुए अपने इस पत्र में कैफे काॅफी डे के तमाम चाहने वालों से माफी भी मांगते हुए कहा था कि वे अपने अभियान में सफल नहीं हो सके।

कर्नाटक के चिकमंगलूर में जन्में सिद्धार्थ ने 1993 में काॅफी डे ग्लोबल की शुरुआत की थी उनका परिवार पिछले 140 सालों से काफी के कारोबार से जुड़ा है। सिद्धार्थ को इसमें त्वरित सफलता भी मिली थी लेकिन पिछले कुछ सालों में न जाने ऐसा क्या हुआ कि लगातार घाटे और पार्टनरों के दबाव के चलते सिद्धार्थ को आत्महत्या जैसा कदम उठाना पड़ा।

ReplyForward

PRITHVI SHAW डोपिंग के दोषी पृथ्वी शाॅ पर गिरी निलंबन की गाज

क्रिकेटः डोपिंग के दोषी पृथ्वी शाॅ पर गिरी निलंबन की गाज
भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज पृथ्वी शाॅ को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने 8 महीने के लिए निलंबित कर दिया है। उन पर यह निलंबन की गाज डोपिंग टेस्ट में फेल होने के कारण गिरी है।  .क्रिकेट बोर्ड के अनुसार पृथ्वी शाॅ ने ऐसे पेय पदार्थ का सेवन किया है जो प्रतिबंध की श्रेणी में आता है और आमतौर पर कफ सीरप में पाया जाता है। अपने उपर लगे प्रतिबंध से निराश पृथ्वी शाॅ ने कहा है कि मैंने इस प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन अनजाने में किया है इस बैन से मैं बेहद निराश हूं लेकिन मैं और मजबूत होकर वापसी करूंगा। 
टीम इंडिया के लिए 2 टेस्ट खेल चुके पृथ्वी शॉ ने पिछले साल वेस्टइंडीज के विरुद्ध अपना टेस्ट डेब्यू किया था और अपने पहले ही टेस्ट मैच में पृथ्वी ने शतकीय पारी खेली थी। अब इस प्रतिबंध के बाद पृथ्वी शा बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज में शामिल नहीं हो पाएंगे ।

दिल्ली -कृषि मंत्री ने मांगा राज्यों का समर्थन

दिल्ली -कृषि मंत्री ने मांगा राज्यों का समर्थन
केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किसानों तक सभी सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने में राज्यों से समर्थन मांगा हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को उनके उत्पादों का उचित मूल्य मिलना चाहिए।कृषि क्षेत्र में नई चुनौतियां हैं और छोटे किसानों को मैदानी स्तर पर तकनीकी सहायता की जरूरत है, ताकि खेती की लागत कम हो सके। किसानों को अपने खेतों की मिट्टी की जांच नियमित रूप से करनी चाहिए। इस संबंध में जैविक खेती में तेजी लाने की जरूरत है। कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने सभी प्रदेषों के कृषि मंत्रियों से कहा है कि वे किसान हितैषी योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाने के काम में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्किट के जरिये कृषि मार्केटिंग को मजबूत किया जाए और कृषि निर्यात को बढ़ाया जाए।

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने खुलासा किया है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल मैच में बेन स्टोक्स ने अंपायरों को टीम के स्कोर से ओवरथ्रो के 4 रन हटाने को कहा था. बता दें कि ये ओवरथ्रो के 4 रन अंत में निर्णायक साबित हुए. फाइनल मैच के अंतिम ओवर में 242 रनों का पीछा कर रही इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने दो रन दौड़ कर लिए थे और दूसरा रन लेने के दौरान मार्टिन गप्टिल का थ्रो स्टोक्स के बल्ले से टकराकर बाउंड्री पार चला गया था जिससे इंग्लैंड के खाते में चार रन और आ गए थे.

[5:30 PM, 7/17/2019] Client Jitendra: मैदानी अंपायर कुमार धर्मसेना ने अपने साथी अंपायरों से बात करने के बाद छह रन इंग्लैंड को दिए थे. इंग्लैंड इससे मैच में वापस आ गई थी. जबकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि पांच ही रन दिए जाने चाहिए थे. ऐसी स्थिति में इंग्लैंड को न्यूजीलैंड के खिलाफ एक रन से हार का सामना करना पड़ता जिसने आठ विकेट पर 241 रन बनाए थे. टेस्ट टीम में स्टोक्स के साथी एंडरसन ने कहा कि इस ऑलराउंडर ने ओवरथ्रो के तुरंत बाद हाथ उठाकर माफी मांग ली थी और अंपायरों से अपील की थी कि वे अपना फैसला बदल दें.
[5:30 PM, 7/17/2019] Client Jitendra: एंडरसन ने कहा कि, ‘क्रिकेट में शिष्टाचार भी होता है. अगर गेंद स्टम्प की तरफ फेंकी गई है और यह आपको लग जाती है और गैप में जाती है तो आप रन नहीं लेते हैं, लेकिन अगर यह बाउंड्री पर चली जाती है तो नियम के मुताबिक, यह चार होना चाहिए और आप इस मामले में कुछ नहीं कर सकते.’ एंडरसन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि माइकल वॉन से बात करने के बाद, जिन्होंने स्टोक्स से मैच के बाद मुलाकात की थी, स्टोक्स मैच के वक्त ही अंपायरों के पास गए थे और कहा था ‘आप चार रन वापस ले सकते हैं, हमें इसकी जरूरत नहीं है.’

तेज गेंदबाज ने कहा, ‘लेकिन यह नियम है और यह इसी तरह है.’ पूर्व अंपायर साइमन टॉफेल ने हालांकि अंपायरों के छह रन देने के फैसले को गलत बताया था और कहा था कि यहां छह रन के बजाए पांच रन देने चाहिए थे क्योंकि बल्लेबाजों ने दूसरा रन पूरा नहीं किया था.