हैप्पी बर्थडे अलका याग्निक महज 6 साल की उम्र में हीं गायकी की दुनिया में कदम रख दिया था अलका ने…


वाॅलीवुड में कई सालों से अपनी खूबसूरत और दिलकश आवाज और अपने गाने से अपने प्रशंसकों के दिलांे पर राज करने वाली अलका याग्निक का आज जन्मदिन है। आज वह अपनी फैमिली और फैंस के साथ अपना 54वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही हैं। उनके जन्मदिन के अवसर पर हम आपकों बतातें है उनके जीवन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें….
20 मार्च 1966 को पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर में एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मीं अलका 90 के दशक में हर हीरोईन की आवाज कही जाती थी। गुजराती परिवार से तालुक रखने वाली अलका को संगीत की शुरूआती तालीम घर से ही मिली। उनकी मां शुभा याग्निक भी एक बेहतरीन क्लासिकल सिंगर थीं। बचपन से ही अपनी मां शुभा याग्निक से शास्त्रीय संगीत सीखने वाली अलका ने महज 6 साल की उम्र में ही अपने करियर की शुरूआत कर दी थी। अलका ने पहली बार आकाशवाणी में भजन गाया, तो जिसने भी उनकी आवाज सुनी उनका कायल हो गया। अलका जब 10 साल की थीं, तभी उनकी मां उन्हें चाइल्ड सिंगर के तौर पर मुंबई ले आईं थीं। लेकिन, यहां उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, क्योंकि, लोगों का कहना था कि उनकी आवाज में मैच्योरिटी नहीं आती। लेकिन उनकी मां ने हार नही मानी और निरंतर प्रयास करती रही। मुंबई आकर उन्होंने राजकपूर को एक खत लिखा, उस खत के बाद जब राजकपूर ने अलका की आवाज सुनी तो वो काफी प्रभावित हुए और उन्होंने प्यारेलाल से अल्का के लिए बात की। इसके बाद प्यारेलाल ने उनकी आवाज सुनी और उन्हें तुरंत डबिंग आर्टिस्ट के तौर पर काम करने का ऑफर दे दिया। अलका ने 14 साल की उम्र में फिल्म पायल की झंकार का थिरकत अंग लचक झुकी गाया। उसके बाद उन्होंने 1981 में फिल्म लावारिस का गाना मेरे अंगने में तुम्हारा क्या काम है गाया जो काफी प्रसिद्ध हुआ। लेकिन सही मायने में उनके करियर को बुलंदियों तक पहुंचाने वाला गाना था फिल्म तेजाब का एक,दो, तीन। इसके बाद अलका ने कई हिट गाने जैसे ऐ मेरे हमसफर, अकेले हम अकेले तुम, गजब का है सोचो जरा, हम है राही प्यार के, कुछ कुछ होता है आदि भी गाएं जो काफी लोकप्रिय हुए।  
गौरतलब है कि अलका ने साल 1989 में शिलांग के मशहूर बिजनसमैन नीरज कपूर से शादी की। दोनों की एक बेटी सायशा कपूर है। लेकिन दोनों की शादी लंबे समय तक टिक नहीं सकी। अल्का पिछले 27 सालों से अपने पति से अलग रह रही हैं। इसके पीछे कारण लड़ाई-झगड़ा नहीं, बल्कि अपना-अपना काम है। दोनों ही अपने काम पर फोकस करना चाहते थे इसलिए उन्होंने ऐसा फैसला लिया। अलग रहने के बाद भी दोनों के बीच रिलेशनशिप कायम है।
आपको बता दें कि अब तक 1100 फिल्मों में तकरीबन 2400 से ज्यादा गाने गा चुकीं अलका ने करियर में ढेरों अवॉर्ड अपने नाम किए हैंै। इसमें नेशनल फिल्म अवॉर्ड, लता मंगेशकर अवॉर्ड, आईफा अवॉर्ड, स्टार स्क्रीन अवॉर्ड, फिल्मफेयर और कई म्यूजिक अवॉर्ड भी शामिल हैं।

कोरोना के चलते विराट-अनुष्का भी हुए घर में कैद, प्रशंसको को भी घर में हीं रहने की सलाह दी


कोरोना के प्रकोप से इन दिनों समूचा विश्व खौफजदा है। इस महामारी के खिलाफ एतियात बरतने के लिए एक ओर जहां हमारे प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन करते हुए लोगों से भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करने और वायरस के संक्रमण से बचने के लिए तमाम सावधानी बरतने की सलाह देते हुए रविवार 22 मार्च को देश की जनता से जनता कफ्र्यू का आवहान किया है। तो वही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा ने शुक्रवार को सभी को अपनी सुरक्षा के लिए घर पर रहने के लिए कहा। विराट ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो क्लिप साझा किया, जिसमें उन्होंने अनुष्का के साथ अपने फैंस से आवश्यक सावधानी बरतने के लिए कहा। अनुष्का ने कहा कि हम जानते हैं कि हम सभी बहुत कठिन समय से गुजर रहे हैं, और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने का एकमात्र तरीका एक साथ घर में रहकर है। हम अपनी सुरक्षा के लिए और दूसरों के लिए भी घर पर रह रहे हैं और आपको भी इसे रोकने के लिए भी करना चाहिए। आइए हम इसे और सभी के लिए सेल्फ आइसोलेट के द्वारा सुरक्षित करें। घर पर रहें और स्वस्थ रहें। वहीं विराट कोहली ने पोस्ट को रीट्वीट किया और कहा कि समय की आवश्यकता को देखते हुए सरकार के निर्देशों का पूरी तरह से सम्मान और पालन करना है। घर पर रहें, सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें।
गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कहर से दुनिया के ज्यादातर देश प्रभावित हुए हैं। चीन, इटली और ईरान जैसों देशों में इसके कारण बड़ी संख्या में लोगों को जान गंवानी पड़ी है। इसके खौफ के कारण दुनियाभर में लोगों की गतिविधियां सिमटकर रह गई है। बाजार, पर्यटन स्थल और अन्य स्थान सूने पड़े हैं और सरकार की समझाइश का पालन करते हुए लोग घर से बाहर निकलने से परहेज कर रहे हैं। खेल के आयोजनों पर भी कोरोना वायरस के कहर का असर पड़ा है।इस वायरस के कहर के चलते लोगों का या तो विभिन्न आयोजन कैंसल करने पड़े हैं या उन्हें स्थगित करना पड़ा है।

निर्भया को मिला इंसाफ….दरिंदों को फांसी


काफी लंबे समय से कानूून के साथ आंख-मिचैली और फांसी से बचने के लिए तरह- तरह के हथकंडे अपना रहे निर्भया के चारों गुनहगारों को पूरे 7 साल, 3 महीने, 4 दिन बाद अपने किए गुनाहों की सजा मिल गई है। 20 मार्च की सुबह चारों दरिंदों को फांसी दे दी गई है। सभी दोषियों ने आखिरी वक्त तक जिला अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक की दौड़ लगाई मगर उन्हें अखिरकार अपने किए की सजा मिल हीं गई। जेल प्रशासन सूत्रों के अनुसार चारों दोषियों को एक साथ फांसी पर लटकाया गया और इसके लिए जेल नंबर-3 की फांसी कोठी में दो तख्तों पर चारों को लटकाने के लिए चार हैंगर बनाए गए थे। इनमें से एक का लीवर मेरठ से आए जल्लाद पवन ने खींचा तथा दूसरे लीवर को जेल स्टाफ ने खींचा। जेल अधिकारियों ने बताया कि चारों दोषियों के शव करीब आधे घंटे तक फंदे पर झूलते रहे जो जेल नियमावली के अनुसार फांसी के बाद की अनिवार्य प्रक्रिया है। दक्षिण एशिया की सबसे बड़े जेल परिसर तिहाड़ जेल में पहली बार चार दोषियों को एक साथ फांसी दी गई है।
फांसी के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि आज वह बहुत खुशी महसूस कर रही हैं क्योंकि उनकी बेटी को आखिरकार इंसाफ मिल गया। उन्होंने कहा कि निर्भया की मां होने के नाते आज वह गर्व महसूस कर रही है। सात साल पहले जो घटना हुई उससे लोग और देश शर्मसार हुआ था लेकिन आज न्याय मिला है। निर्भया के पिता ने कहा कि देर से ही सही उनको न्याय मिला। उन्होंने कहा कि उन्होंने एक पिता होने का कर्त्तव्य निभाया है। इंसाफ के लिए दर दर की ठोकरें खाई है लेकिन आखिरकार इंसाफ मिला।
आपको बता दें कि 16 दिसंबर, 2016 की रात अपने दोस्त के साथ फिल्म देखकर लौट रही 23 वर्षीय निर्भया के साथ छह लोगों ने चलती बस में गैंगरेप किया था। आरोपियों ने इस दौरान हैवानियत की सारे हदें पार कर दी थीं और बुरी तरह से घायल निर्भया और उसके दोस्त को सड़क किनारे फेंककर भाग गए थे। छात्रा का पहले सफदरजंग अस्पताल में इलाज चला, लेकिन कुछ दिन बाद सिंगापुर शिफ्ट कर दिया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में छह आरोपी थे, जिसमें एक नाबालिग था और एक ने तिहाड़ में खुदकुशी कर ली थी।

संजय बांगर ने ठुकराया बांग्लादेश के बैटिंग कोच बनने का ऑफर

टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने बांग्लादेश क्रिकेट टीम के बैटिंग कोच और बांग्लादेशी टेस्ट टीम का सलाहकार बनने के आफर को ठुकरा दिया है। बांगर ने कुछ निजी और पेशेवर प्रतिबद्धताओं की वजह से इस ऑफर को  इंकार किया है। और कहा है कि फिलहाल वो बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के किसी भी प्रस्ताव को स्वीकार नही कर रहे है। बीसीबी ने आठ सप्ताह पहले बांगर के सामने टेस्ट क्रिकेट में बांग्लादेश के बल्लेबाजों को कोचिंग देने का प्रस्ताव रखा था। बांगर ने कहा कि उन्होंने आठ सप्ताह पहले मेरे सामने प्रस्ताव रखा था। लेकिन मैंने स्टार के साथ अपने अनुबंध को अंतिम रूप दे दिया है, जिससे मुझे अपनी निजी और पेशेवर प्रतिबद्धताओं के बीच संतुलन बिठाने का मौका मिलेगा। हालांकि मैं भविष्य में बीसीबी के साथ काम करने के लिए तैयार हूं। लेकिन बांगर इसे स्वीकार नहीं कर सकते, क्योंकि उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स के साथ दो साल का अनुबंध किया है। आपको बता दें बांगर 2014 से 2019 तक भारतीय टीम के साथ जुड़े रहे। सितंबर में घरेलू सत्र शुरू होने के बाद उनकी जगह विक्रम राठौड़ ने ली है। वल्र्ड कप के बाद वेस्टइंडीज का दौरा भारतीय टीम के साथ उनकी आखिरी सीरीज थी। इसके बाद से बांगर कॉमेंट्री में व्यस्त हैं। 47 साल के बांगर ने भारत की तरफ से 2001 से 2004 तक 12 टेस्ट और 15 वन-डे खेले ह। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी निजामुद्दीन चैधरी ने ढाका में बुधवार को बताया कि बैंटिंग कोच और टेस्ट टीम के सलाहकार के लिए हमारी बांगर से बात हुई थी लेकिन मामले को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका। उन्होंने बताया कि हमारी कुछ अन्य लोगों से भी बातचीत चल रही है। फिलहाल दक्षिण अफ्रीका के नील मैकेंजी यह जिम्मेदारी निभा रहे हैं। जब तक हमें टेस्ट बैटिंग कोच नहीं मिल जाता, मैकेंजी यह काम जारी रखेंगे। 

क्यों आलीशान बंगला छोड़ इस छोटे से फ्लेट में रहते हैं सलमान जानें वजह…


वाॅलीवुड के सुपर स्टार दबंग खान की अच्छी खासी फैन फाॅलोइंग है और उनके पास किसी भी चीज की कोई कमी नही है। उनके पास आज इतनी दौलत है कि वो मुबंई में एक नहीं बल्कि कई आलीशान मकान खरीद सकते है। बावजूद इसके सलमान सालों से मुबंई में एक छोटे से फ्लेट में अपने परिवार के साथ रहते है। ऐसे मे हर कोई ये जानना चाहता है कि आखिर क्या कारण है कि सलमान बांद्रा में स्थित गैलेक्सी अपार्टमेंट में सालों से रह रहे हैं। इस बारे में खुलासा करते हुए सलमान ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा है कि मुझे किसी भी बड़े आलीशान बंगले में रहने से ज्यादा बांद्रा के फ्लैट में रहना पसंद है क्योंकि वहां मेरे फ्लैट से ठीक ऊपर मेरे पैरंट्स रहते हैं। जब मैं बच्चा था तो मैं अपने घर जाने के लिए यही राइट टर्न और लेफ्ट टर्न लेता रहा हूं और मेरे लिए ये सब ऐसे ही ठीक है।
सलमान ने आगे कहा, ये पूरी बिल्डिंग एक बड़े परिवार की तरह है। जब हम छोटे थे तो पूरी बिल्डिंग के बच्चे एक साथ नीचे गार्डन में खेलते थे और कभी-कभी तो वहीं सो भी जाते थे। पहले यहां हमारे लिए अलग-अलग घर नहीं थे, हम सभी घरों को एक-जैसा मानते थे और किसी के भी घर में घुसकर खाना खा लेते थे. मैं आज भी उसे फ्लैट में रहता हूं क्योंकि मेरी यहां से अनगिनत यादों जुड़ी हैं।आपको बता दें कि इससे पहले सलमान के पिता सलीम खान ने भी बिल्डिंग के प्रति अपना प्यार जाहिर किया था। सलीम ने बताया था कि मैं इस जगह से काफी जुड़ा हुआ हूं। मैं कभी भी इस घर को छोड़ूंगा तो मेरा दिल रोएगा। मैं यहां से बाहर जाकर कभी खुश नहीं रह पाउंगा।वहीं अगर सलमान खान के वर्क फ्रंट की बात करें तो वह जल्द ही फिल्म राधे योर मोस्ट वॉन्टेड भाई में नजर आएंगे। फिल्म का निर्देशन प्रभुदेवा कर रहे हैं। इसमें सलमान के अपोजिट दिशा पाटनी नजर आएंगी। इससे पहले दोनों की जोड़ी फिल्म भारत में नजर आ चुकी है। रिपोर्ट्स के अनुसार कोरोना वायरस के चलते अभी फिल्म की शूटिंग रोक दी गई है।

यस बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरी बैंक ने अपनी सभीे सेवाएं शुरू की

यस बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरीबैंक ने अपनी सभीे सेवाएं शुरू कीयस बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी राहत भरी खबर सामने आई है। जिसके बाद ग्राहकों की पिछले कई दिनों से जारी मुश्किले अब समाप्त हो गई है। पुनर्गठन की प्रक्रिया से गुजर रहे यस बैंक पर आरबीआई की तरफ से लगाई गई सारी पाबंदिया हटा दी गई है। यस बैंक ने बुधवार से अपना काम-काज शुरू कर दिया है, बैंक के ग्राहकों अब पहले की तरह बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा पाएंगे। गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ने पांच मार्च को बैंक पर पाबंदी लगा दी थी। इसके तहत ग्राहकों को तीन अप्रैल तक अपने खाते से 50,000 रुपये तक निकालने की छूट दी गयी थी। साथ ही आरबीआई ने बैक के निदेशक मंडल को हटा दिया था। सरकार ने पिछले सप्ताह पुनर्गठन योजना को अधिसूचित किया। यस बैंक के पुनगर्ठन के तहत भारतीय स्टेट बैंक के साथ ही सात अन्य वित्तीय संस्थानों ने 10,000 करोड़ रुपए लगाया है। इस संबध में खुद यस बैंक ने ट्विीट कर कहा है कि हमारी बैंक सेवाएं फिर से शुरू हो गई हैं। आप हमारी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। सहयोग और धैर्य रखने के लिए धन्यवाद। यही नहीं बैंक ने ये भी लिखा है कि 19 से 21 मार्च तक यस बैंक की शाखाएं एक घंटे पहले 08ः30 बजे खुलेंगी। वहीं बैंक ने अपने सीनियर सिटिजन ग्राहकों के लिए काम-काज की समय सीमा एक घंटे बढ़ा दी है। उनके लिए 19 मार्च से 27 मार्च तक बैंक सेवाए शाम 4ः30 से 5ः30 तक उपलब्ध रहेंगी।  

कोरोना के कारण टली अक्षय की सूर्यवंशम की रिलीज…


रोहित शेट्टी के निर्देशन में वाॅलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशम का टेªलर आने के बाद दर्शक बड़ी ही बेसब्री से इस फिल्म इंतजार कर रहे थे। लेकिन उनके प्रशंसक जरुर इस खबर से थोड़े निराश हो सकते है। देश भर में तेजी से बढ़ रहे कोरोनावायरस के संक्रमण के मामलों को देखते हुए पूरे देश में इस फिल्म की रिलीज को फिलहाल टाल दिया गया है। सूर्यवंशी पहले 24 मार्च को रिलीज होने वाली थी लेकिन कोरोना के खतरे को देखते हुए गुरूवार को सूर्यवंशी की टीम ने सोशल मीडिया के जरिए ये घोषणा की है कि इसकी रिलीज डेट को पोस्टपोन किया जा रहा है।  इतने बड़े फैसले से फिल्म के निर्देशक रोहित शेट्टी थोड़ा निराश तो हैं लेकिन वो इसके लिए तैयार थे। स्पॉटबॉय से बातचीत मे उन्होंने इस बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि ये तो होना ही था। हम फिल्म को पोस्टपोन करने का तो लंबे समय से सोच रहे थे, बस सही दिन और सही वक्त का इंतजार कर रहे थे। फिल्म को फिलहाल टालना ही सभी के लिए बेहतर होगा। क्योंकि लोगों की सेफ्टी पहले आती है। अब जब इतने सारे सिनेमाहॉल को बंद करने का आदेश दिया जा रहा हो, ऐसे समय में फिल्म को पोस्टपोन करना ही बेहतर फैसला है। रोहित ने सरकार के फैसले पर सहमति जताते हुए कहा की मौजूदा समय में कोरोना वायरस के चलते देश में परेशानियां काफी बढ़ गई हैं। ऐसे में सिनेमाहॉल और स्कूल का बंद होना अच्छा फैसला है इस मुश्किल घड़ी में सभी को साथ में खड़ा रहना चाहिए।
सूर्यवंशी की बात करें तो फिल्म में अक्षय कुमार लीड रोल में हैं। फिल्म में उनके अपोजिट कटरीना कैफ को कास्ट किया गया है। वहीें जैकी श्राॅफ और गुलशन ग्रोवर जैसे ऐक्टर्स भी अहम किरदारों में हैं

फिल्मों में एक्टिंग भी करूंगी बस एक शर्त है- नेहा कक्कड़


मौजूदा दौर में फिल्म इंडस्ट्री में अगर किसी सिंगर की सबसे ज्यादा डिमांड है तो वो है नेहा कक्कड़ की और हो भी क्यों न नेहा ने एक से बढ़कर एक सुपर हिट गाने दिए हैं जो कि सभी के पसंदीदा ही नहीं बल्कि चार्टबस्टर्स बन गए है। उनके गाने बैकटूबैक हिट हो रहे है और उनके प्रशंसको को बेहद पसंद आ रहे है। लेकिन फिल्मों में एक्टिंग को लेकर नेहा कक्कड़ क्या सोचती है ये जानना उनके प्रशंसको के लिए वाकई दिलचस्प रहेगा। नेहा ने हाल हीं में एक इन्टरव्यू में बॉलीवुड फिल्म में एक्टिंग करने की अपनी योजना के बारे में बताते हुए कहा कि पहले भी वाॅलीवुड के कई सिंगर फिल्मों में अपने हाथ आजमा चुके है मगर अफसोस की वे सफल नहीं रहें। इसलिए अगर मैं भी ऐसा करूंगी तो मैं इस बारे में पूरी तरह से आश्वस्त होना चाहूंगी कि वो फिल्म एक बड़ी हिट फिल्म हो तभी में करूंगी वरना नहीं। नेहा ने कहा कि मैं बस फिल्म करने के लिए फिल्म नहीं करूंगी। जब मैं महसूस करूंगी कि यह फिल्म हिट होगी, तभी मैं उसमें अपना लक आजमाऊंगी। इसका मतलब साफ है कि नेहा कक्कड़ को फिल्मों में आने के लिए सही प्रोजेक्ट का इंतजार है, तभी वो सिल्वर स्क्रीन पर कदम रखेंगी। लेकिन वो प्रोजेक्ट नेहा को मिलने में कितना समय लगता है इस पर कुछ कहा नहीं जा सकता। नेहा एक हिट स्टार हैं। इसलिए वे नहीं चाहती सिर्फ पर्दे पर दिखने के लिए वे किसी भी फिल्म का हिस्सा बने।़
बता दें कि सिंगर नेहा कक्कड़ ने इंडियन आइडल 11 में जज की भूमिका निभाई थी और इस शो में रहते हुए कई विवाद में भी घिरी। प्रमोशनल एक्टिविटी के नाम पर कुछ चीजें लोगों को गले नहीं उतरी। प्रतिभागी का जबर्दस्ती किस करना भी सुर्खियों में रहा। आदित्य नारायण से शादी का पूरा ड्रामा भी लंबा चला था। यहां तक कि उदित नारायण और उनकी पत्नी को भी इसमें इन्वॉल्व किया था।