6691 करोड़ की 1844 शराब दुकानों की फिर होगी नीलामी

राज्य सरकार 6691 करोड़ रु. की 1884 देशी-विदेशी दुकानों की नीलामी करेगी। इसके टेंडर सिंगल ग्रुप सिस्टम के तहत होंगे। हालांकि इस पैटर्न से करीब 500 करोड़ रु. का नुकसान तय है। इस बीच आंशिक व्यवस्था में वर्तमान पॉलिसी (वर्ष 2020-21) पर रोजाना के हिसाब से सात-सात दिन शराब दुकान चलाने के लिए टेंडर निकालने के आदेश हुए है। आबकारी विभाग ने 9 जून से दुकानों को चलाना शुरू कर दिया है। अभी कुछ दिनों की व्यवस्था के लिए रोजाना के हिसाब से शराब दुकानों का ठेका देना प्रस्तावित किया गया है। यानी पुरानी नीति पर सात-सात दिन के लिए दुकानें ली जा सकेगी।

यस बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरी बैंक ने अपनी सभीे सेवाएं शुरू की

यस बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरीबैंक ने अपनी सभीे सेवाएं शुरू कीयस बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी राहत भरी खबर सामने आई है। जिसके बाद ग्राहकों की पिछले कई दिनों से जारी मुश्किले अब समाप्त हो गई है। पुनर्गठन की प्रक्रिया से गुजर रहे यस बैंक पर आरबीआई की तरफ से लगाई गई सारी पाबंदिया हटा दी गई है। यस बैंक ने बुधवार से अपना काम-काज शुरू कर दिया है, बैंक के ग्राहकों अब पहले की तरह बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा पाएंगे। गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ने पांच मार्च को बैंक पर पाबंदी लगा दी थी। इसके तहत ग्राहकों को तीन अप्रैल तक अपने खाते से 50,000 रुपये तक निकालने की छूट दी गयी थी। साथ ही आरबीआई ने बैक के निदेशक मंडल को हटा दिया था। सरकार ने पिछले सप्ताह पुनर्गठन योजना को अधिसूचित किया। यस बैंक के पुनगर्ठन के तहत भारतीय स्टेट बैंक के साथ ही सात अन्य वित्तीय संस्थानों ने 10,000 करोड़ रुपए लगाया है। इस संबध में खुद यस बैंक ने ट्विीट कर कहा है कि हमारी बैंक सेवाएं फिर से शुरू हो गई हैं। आप हमारी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। सहयोग और धैर्य रखने के लिए धन्यवाद। यही नहीं बैंक ने ये भी लिखा है कि 19 से 21 मार्च तक यस बैंक की शाखाएं एक घंटे पहले 08ः30 बजे खुलेंगी। वहीं बैंक ने अपने सीनियर सिटिजन ग्राहकों के लिए काम-काज की समय सीमा एक घंटे बढ़ा दी है। उनके लिए 19 मार्च से 27 मार्च तक बैंक सेवाए शाम 4ः30 से 5ः30 तक उपलब्ध रहेंगी।  

बदले गए क्रेडिट- डेबिट कार्ड से जुड़े ये नियम… जानिए फायदे और नुकसान के बारे में…


अगर आप भीे डेबिट और क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते है तो ये खबर आपके लिए बेहद खास है। एसबीआई समेत सभी प्रमुख बैंकों द्वारा जारी किए इस नए नियम से ग्राहकों के  डेबिट और केडिट कार्ड पहले कीे अपेक्षा और भी सुरक्षित और सुविधा जनक हो जाएंगे। बता दें कि डिजिटल ट्रांजेक्शन से जुड़े फ्रॉड पर रोक लगाने के लिए रिजर्व बैंक ने इस संबंध में जनवरी 2020 में अधिसूचना जारी की थी। ये नियम सभी डेबिट-क्रेडिट कार्ड (फिजिकल और वर्चुअल) पर लागू होंगे।
हालांकि, यह नए नियम प्रीपेड गिफ्ट कार्ड्स और मेट्रो कार्ड पर लागू नहीं होंगे। आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वे डेबिट-क्रेडिट कार्ड फिर से जारी करते समय उन्हें केवल भारत में एटीएम और प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल्स पर ट्रांजेक्शन के लिए सक्रिय करें। नए नियम के अनुसार केवल अब डेबिट-क्रेडिट कार्ड के साथ सिर्फ एटीएम और पीओएस टर्मिनल पर इस्तेमाल करने की सुविधा मिलेगी। वहीं अगर ग्राहक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन, कॉन्टेक्टलेस ट्रांजेक्शन या इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन करना चाहते हैं तो इन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए इन सेवाओं को चालू कराना होगा। बता दें कि पुराने नियमों के अनुसार ये सेवाएं कार्ड के साथ स्वत आती थीं लेकिन अब ग्राहक के आग्रह पर ही शुरू होंगी। इसके अलावा अगर आपके पास पहले से ही डेबिट-क्रेडिट कार्ड हैं और आपने अभी तक अपने कार्ड से कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शन, कॉन्टेक्टलेस ट्रांजेक्शन या इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन नहीं किया है तो कार्ड पर ये सेवाएं 16 मार्च से अपने आप बंद हो जाएंगी। रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों से कहा है कि वे मोबाइल एप्लीकेशन, लिमिट मोडिफाई करने के लिए नेट बैंकिंग विकल्प और इनेबल व डिसेबल सेवा सप्ताह के सातों दिन चैबीसों घंटे उपलब्ध करवाएं। ग्राहक अगर अपने कार्ड के स्टेटस में कोई बदलाव करते हैं या कोई अन्य करने की कोशिश करता है तो बैंक एसएमएस और ई-मेल के जरिए ग्राहक को अलर्ट करेगा और सूचना भेजेगा।

कोरोना के खौफ से शेयर बाजार में भारी गिरावट… निवेशकों के डूबे 6 लाख करोेड़ रुपए…


कोरोना वायरस के प्रकोप से वैश्विक अर्थव्यवस्था को लेकर बढ़ रही तमाम आशंकाओं और चिंताओं के बीच घरेलू शेयर बाजारों में भी गिरावट का रुख जारी हैै। शेयर बाजारों में सोमवार को भारी गिरावट के साथ कारोबार की शुरुआत हुई। बाजार में चैतरफा बिकवाली की वजह से दोपहर को शेयर बाजार में गिरावट और गहरा गई है। सेंसेक्स 2239 अंक टूटकर 35,337.66 के स्तर पर आ गया है। वहीं, निफ्टी 625 अंक लुढ़ककर 10,363.60 के स्तर पर आ गया है। शेयर बाजार में एक साल की यह सबसे बड़ी गिरावट है। बाजार में भारी गिरावट से निवेशकों के 6 लाख करोड़ रुपये डूब गए हैं।
शुक्रवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,44,31,224.41 करोड़ रुपये था, जो सोमवार को बाजार में गिरावट से 6,35,312.27 करोड़ रुपये घटकर 1,37,95,912.14 करोड़ रुपये हो गया।
कारोबारियों के अनुसार कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मंदी की आशंका गहराने के चलते शेयर बाजारों में नकारात्मक रुख है। सेंसेक्स के सभी शेयर घाटे में चल रहे हैं। कारोबारियों ने बताया कि तेल कीमतों में भारी गिरावट और वैश्विक स्तर पर अनिश्चितता के माहौल को देखते हुए घरेलू बाजार में निवेशक सतर्क रूख अपना रहे हैं।

खरीद लो सस्ता सोना…


मोदी सरकार दे रही है सस्ता सोना खरीदने का मौका…
2 से 6 फरवरी तक कर सकते हैं निवेश…
इन दिनों जब सोने की कीमतें भले हीं आसमान को छू रही हैं लेकिन केन्द्र की मोदी सरकार स्वर्ण प्रेमियों को सस्ती दरों पर  सोना खरीदनें का मौका दे रहीे है। अगले 5 दिन यदि आप सरकार का सोना खरीदते हैं तो आपको सोना काफी सस्ता मिल सकता है। गौरतलब है कि मौजूदा समय में कोरोना वायरस ने चीन समेत सारी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है। यही नहीं कोरोना वायरस ने शेयर बाजार को भी अपने चपेट में ले लिया है, जिसके चलते निवेशकों का खासा नुकसान का सामना करना पड़ा है। जिसको मद्देनजर रखते हुए सरकार ने आम जनता से सोना में निवेश करने की अपील की है, ताकि शेयर बाजार सहित देश की अर्थव्यवस्था को मंदी की चपेट से उबारा जा सके। केन्द्र  सरकार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2019-20 के तहत सोना बेचने जा रही है। निवेश के लिए 10 सीरीज है। सोमवार को गोल्ड बॉन्ड के जरिए सोना में निवेश करने का आह्वान किया गया है। इस विषय में जानकारी देते हुए आरबीआई ने कहा कि निवेशक सॉवरेन बॉन्ड में निवेश 2 से 6 मार्च के बीच कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आरबीआई ने गोल्ड बॉन्ड का निवेशक मुल्य 4,260 रूपए निर्धारित किया है। गोल्ड बॉन्ड मेें निवेश करने वालों को केन्द्र सरकार कई तरह की रियायतें भी दे रही है। अगर आप गोल्ड बॉन्ड के तहत निवेश करने की सोच रहे हैं तो आपको 50 रूपए की छूट मिलेगी। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के तहत निवेश करने वाले एक वित्तिय वर्ष में अधिकतम 500 ग्राम सोने को बॉन्ड में खरीद सकते हैं। वहीं, बात अगर न्यूनतम निवेश की करें तो आप एक ग्राम सोने पर भी निवेश कर सकते हैं। इस स्कीम के तहत निवेश करने पर आपका टैक्स भी बचेगा।

एयरटेल के इस प्लान में आपको मिलेगा आपको मिलेगा इंश्योरेंस के साथ फ्री काॅल और डाटा…


अगर आप भी एयरटेल प्रीपेड कस्टमर है तो आपके लिए खुशखबरी है। भारतीय टेलीकाॅम कंपनी एयर टेल ने देश भर में अपनी सेवाओं को बढ़ाने और और अपने ग्राहकों को लुभाने के लिए एक और बड़ा दांव खेला है। एयरटेल ने तीन नए और सस्ते प्री-पेड प्लान पेश किए हैं जिनमें ग्राहकों को इंश्योरेंस के साथ फ्री कॉलिंग और डाटा का फायदा मिल रहा है। आइए जानते है इन प्लान के बारें में…एयरटेल ने तीन नए प्री-पेड प्लान पेश किए हैं जिनमें 179 रुपये, 279 रुपये और 349 रुपये के प्लान शामिल हैं। इनमें से पहले दो प्लान चार लाख रुपये के लाइफ इंश्योरेंस के साथ आते हैं, वहीं तीसरे प्लान में अमेजन प्राइम वीडियो की मेंबरशिप मिल रही है।सबसे पहले 179 रुपये वाले प्लान की बात करें तो एयरटेल के इस प्लान में 28 दिनों की वैधता के साथ कुल 2 जीबी डाटा मिलेगा। इसके अलावा इस प्लान में सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग मिलेगी। इस प्लान में 300 मैसेज भेजेन और दो लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस मिलेगा।279 रुपये वाले प्लान की खासितयों की बात करें तो इसमें 28 दिनों की वैधता के साथ रोज 1.5 जीबी डाटा मिलेगा। इसके अलावा सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग, रोज 100 मैसेज और चार लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस मिलेगा।279 रुपये वाले प्लान की खासितयों की बात करें तो इसमें 28 दिनों की वैधता के साथ रोज 1.5 जीबी डाटा मिलेगा। इसके अलावा सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग, रोज 100 मैसेज और चार लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस मिलेगा।एयरटेल के 349 रुपये वाले प्लान में 28 दिनों तक रोज 2 जीबी डाटा और सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग मिल रही है। इस प्लान में अमेजन प्राइम वीडियो का सब्सक्रिप्शन मिल रहा है। साथ ही रोज 100 मैसेज भी भेज सकेंगे।

होंडा ने लाॅच की नई होंडा शाईन, मिलेगा अधिक माइलेज


होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर ने बीएस- 6 इंजन के साथ नई होंडा शाइन को भारतीय बाजार में लॉन्च कर दिया गया है। नई होंडा शाइन के लाॅचिंग के बाद कंपनी ने ये दावा किया है कि बीएस-6 अनुसरित होने की वजह से यह बाइक अब 14 प्रतिशत अधिक माइलेज प्रदान करेगी। इसकी कीमत कम्पनी ने 67,857 रुपये (एक्स शोरूम) रखी है। नई होंडा शाइन के साथ कम्पनी 6 साल का वारंटी भी दे रही है। इसकी फीचर्स की बात करें तो कंपनी ने नई शाइन में ड्रम व डिस्क ब्रेक दोनों का विकल्प दिया है। वहीं डिजाइन में भी फेर बदल करते हुए सामने की ओर क्रोम गार्निश वाल फ्रंट वाइजर लगाया है, साइड कवर पर भी क्रोम का इस्तेमाल किया गया है। इसके अलावा इसके मीटर को नया डिजाइन, डीसी हेडलैंप, स्मार्ट टेल लैंप व ब्लैक अलॉय व्हील जैसी सुविधाएं भी दी गई हैं। यही नहीं बाइक की ग्राउंड क्लियरेंस, व्हीलबेस तथा सीट की लंबाई को भी कम्पनी ने बढ़ाया है। इंजन की बात करें तो नई होंडा शाइन में बीएस-6 अनुसरित 125 सीसी का इंजन लगा है जिसे 5 स्पीड गियरबॉक्स के साथ जोड़ा गया है। इस बाइक में फ्यूल इंजेक्शन तकनीक का उपयोग होने के अलावा कम्पनी ने इसमें नई एसीजी स्टार्टर मोटर को भी शामिल किया है, जो सैल्फ मारने पर इसे साइलेंट स्टार्ट होने में मदद करेगी। नई होंडा शाइन ग्राहकों के लिए दो वैरिएंट के साथ ही चार कलर ऑप्शन्स में उपलब्ध कराया गया है जिसमें ब्लैक, जेनी ग्रे मेटैलिक, रिबेल रेड मेटैलिक तथा एथलेटिक ब्लू मेटैलिक शामिल है।

आम आदमी की जेब को बड़ा झटका

आम आदमी की जेब को बड़ा झटका…150 रुपए तक बढ़े घरेलू गैस सिलेंडर के दाम
पहले से हीं महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी को तेल कंपनियों ने जोरदार झटका देते हुए घरेलू गैस सिलेंडर के दामोें में 144.50 से लेकर 150 रुपए तक का इजाफा कर दिया है। देश की सबसे बड़ी ऑयल मार्केटिंग कंपनी इंडेन आयल आईओसी की वेबसाईट पर बढ़ी हुई कीमते देखी जा सकती है। सभी महानगरों में बिना सब्सिडी वाले 14 किलो के रसोई गैस सिलिंडर के दाम में 144.50 रुपये से 149 रुपये तक की बढोतरी कर दी गई है, जो 12 फरवरी से लागू हो गई हैं। आपको बता दें कि इससे पहले 1 जनवरी 2020 को रसोई गैस के दाम बढ़ाए गए थे। हर महीने सब्सिडी और मार्केट रेट में बदलाव होता है, लेकिन फरवरी की शुरुआत में कोई बदलाव नहीं किया गया था। आपको बता दें कि रसोई गैस के कुल 27.6 करोड़ के करीब उपभोक्ता हैं। इनमें से करीब दो करोड़ को सब्सिडी नहीं मिलती है। गौरतलब है कि रसोई गैस सिलेंडर के दाम- औसत अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क दर और विदेशी मुद्रा के एक्सचेंज रेट के हिसाब से तय होते हैं। इसी वजह से एलपीजी सिलेंडर की सब्सिडी की रकम में भी हर महीने बदलाव होता है। जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भाव बढ़ते हैं तो सरकार अधिक सब्सिडी देती है और जब दरें नीचे आती हैं तो सब्सिडी में कटौती की जाती है। टैक्स नियमों के अनुसार रसोई गैस पर माल एवं सेवाकर (जीएसटी) की गणना ईंधन के बाजार मूल्य पर ही तय की जाती है।आईओसी की वेबसाइट के मुताबिक देश के चार महानगरों में रसोई गैस सिलेंडर के नए दाम दिल्ली में अब 14 किलो वाला रसोई गैस सिलिंडर 858.50 रुपये में मिलेगा। दिल्ली में 144.50 रुपये दाम बढ़ाए गए हैं। वहीं, कोलकाता के ग्राहकों को 149 रुपये ज्यादा चुकाकर 896.00 रुपये के दाम पर सिलिंडर मिलेगा। मुंबई में 145 रुपये की बढ़ोतरी के साथ नया दाम 829.50 रुपये हो गया है। देश के दक्षिण राज्य के चेन्नई शहर में इसके ने दाम 147 रुपये की बढ़ोतरी के साथ 881 रुपये कर दिए गए हैं।

एसबीआई ने फिर की फिक्स डिपाॅजिट की ब्याज दरों में कटौती


भारतीय स्टेट बैंक ने आम आदमी को झटका देते हुए खुदरा फिक्स डिपाॅजिट की दरों में कटौती की घोषणा की है। गौरतलब है कि बीते कुछ समय से बैंकों की ओर से रिटेल एफडी पर ब्याज दर में लगातार कटौती करने का सिलसिला जारी है। खासतौर पर सरकारी बैंक एसबीआई फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में लगातार कटौती कर रहा है। अब एसबीआई ने एक बार फिर एफडी की ब्याज दरें घटा दी हैं। बैंक ने 7 दिनों से 45 दिनों की मैच्योरिटी अवधि को छोड़कर सभी तरह की एफडी की ब्याज दरों में कटौती की है। एसबीआई की तरफ से जारी किए गए नई एफडी दरें 10 फरवरी से प्रभावी होंगी। इससे पहले भी एसबीआई  ने जनवरी एक साल के बीच मैच्योरिटी के लिए एफडी दरों में 15 प्लॉइन्टस (बीपीएस) की कटौती की थी। 46 दिनों से 179 दिनों में मैच्योरिटी होने वाली एफडी के लिए, एसबीआई ने ब्याज दर में 50 बीपीएस की कटौती की है, अब इन सेविंग्स पर 5 प्रतिशत की ब्याज दर मिलेगी। 180 दिनों से लेकर 210 दिनों तक और 211 दिनों से 1 साल से कम अवधि की मैच्योरिटी होने वाली एफडी के लिए एसबीआई 5.50प्रतिशत की दर पर ब्याज देगा। पहले एसबीआई इन डिपॉजिट पर 5.80 प्रतिशत ब्याज दे रहा था। बैंक ने 1 साल से 10 साल में मैच्योरिटी होने वाली डिपॉजिट पर 10 बीपीएस की ब्याज दर घटा दी है, ये डिपॉजिट जो पहले 6.10 प्रतिशत की दर से ब्याज देते थे अब नए प्लान के मुताबिर अब 6 प्रतिशत की दा से  ब्याज देंगे।
यहां जानें पूरी लिस्ट
7 दिन से 45 दिन 4.50
46 दिन से 179 दिन 5.00
180 दिन से 210 दिन 5.50
211 दिन से 1 वर्ष से कम 5.50
1 वर्ष से कम 2 वर्ष 6.00
2 साल से कम 3 साल 6.00
3 साल से 5 साल से कम 6.00
5 साल और 10 साल तक 6.00
तो वहीं 10 फरवरी से प्रभावी वरिष्ठ नागरिकों के लिए एसबीआई की नई एफडी की ब्याज दरें भी प्रभावित होंगी।
वरिष्ठ नागरिकों के लिए एसबीआई नई एफडी की ब्याज दरें
7 दिन से 45 दिन 5.00 प्रतिशत
46 दिन से 179 दिन 5.50 प्रतिशत
180 दिन से 210 दिन 6.00 प्रतिशत
211 दिन से 1 वर्ष कम से कम 6.00 प्रतिशत
1 वर्ष से 2 वर्ष से कम 6.50 प्रतिशत
2 साल से कम 3 साल 6.50 प्रतिशत
3 साल से 5 साल से कम 6.50प्रतिशत
5 साल और 10 साल तक 6.50 प्रतिशत

आरबीआई ने नहीं किया रेपो रेट में बदलाव, कम नहीं होगी आपकी ईएमआई


भारतीय रिजर्व बैंक ने लगातार दूसरी बार आम आदमी को झटका देते रेपो रेट में कटौती नही करने का फैसला लिया है। आरबीआई की 2 फरवीर से 6 फरवरी तक चली समीक्षा बैठक के बाद गुरुवार को मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में नीतिगत ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। चालू वित्त वर्ष 2019-20 की 6वीं द्विमासिक मौद्रिक नीति का एलान करते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट को 5.15 फीसदी पर बरकरार रखा है। रिवर्स रेपो रेट भी 4.90 फीसदी पर बरकरार है। रिजर्व बैंक ने सीआरआर 4 फीसदी और एसएलआर18.5 फीसदी पर बनाए रखा है। इससे पहले लगातार 5 बार कटौती करते हुए रेपो रेट में 1.35 प्रतिशत की कमी की गई थी। आरबीआई ने अगले वित्त वर्ष 2020-2021 में आर्थिक वृद्धि दर 6 प्रतिशत रहने का अनुमान व्यक्त किया है। रिजर्व बैंक ने कहा कि जब तक संभव है, वह नीतिगत रुख को उदार बनाए रखेगा। अर्थव्यवस्था में नरमी बरकरार है, आर्थिक वृद्धि दर संभावित क्षमता से नीचे है। आपको बता दें कि यह 2020 की पहली मौद्रिक नीति है। यह ऐसे समय में आई है, जब आम बजट पेश किया जा चुका है और जीडीपी ग्रोथ अपने 6 साल के निचले स्तर पर है। वहीं दिसंबर 2019 में खुदरा महंगाई दर 7.35 फीसदी पर पहुंच गया है।गौरतलब है कि रेपो रेट वह दर है जिस पर आरबीआई बैंकों को कर्ज देता है, इसमें कमी होने से लोन सस्ते होते हैं। आरबीआई नीतियां व ब्याज दरें तय करते वक्त खुदरा महंगाई दर को ध्यान में रखता है।